विश्व की स्थानीय पवने, चिनूक, फोन, हरमट्टन

सामान्य तौर पर लघु क्षेत्र में सीमित तथा स्थानीय दशाओं से उद्भव हवाओं को स्थानीय पवने ( विश्व की स्थानीय पवने ) कहते हैं जिनकी उत्पत्ति तापीय एवं गतिक कारणों से होती हैl
1 ) चिनूक – रॉकी पर्वत के पूर्व ढालो के सहारे चलने वाली शुष्क एवं गर्म स्थानीय युवाओं को संयुक्त राज्य अमेरिका में ‘ चिनूक ‘ कहते हैंl यह चक्रवात जन्य हवा स्थानीय उर्ध्वाघर हवा होती है जिसका प्रभावित क्षेत्रो की जलवायु पर सीमित प्रभाव होता है चक्रवातो के साथ हवा पर्वत को पार करके जब दूसरे ढाल पर उतरती हैl तो गर्म एवं शुष्क चिनूक का आविर्भाव होता हैl रॉकी पर्वत के पूर्व ढाल के समांतर प्रेयरी मैदान में चक्रवातीय निम्न दाब का आविर्भाव हो जाता है परिणाम स्वरूप रॉकी के पश्चिमी ढाल के सहारे हवा ऊपर उठने लगती है जिस कारण तापमान शुष्क एडीयाबेटीक दर से गिरने लगता अधिक ऊंचाई पर जाने पर वायु संपृप्त हो जाती है एवं संघनन के बाद वृष्टि करती है अब पवन रॉकी पर्वत को पार कर लेती हैl पूर्वी ढाल के सहारे नीचे उतरने लगती है नीचे उतरती हवा संपीड़न के कारण गर्म होने लगती है यह शुष्क तथा गर्म हो जाती है चिनूक मुख्य रूप से शीतकाल में प्रवाहित होती है इन हवाओं को स्नो इटर ( snow eater ) कहा जाता है इस तरह तापमान में अचानक वृधि के कारन धरातल पर बर्फ इस तरह अचानक पिघल जाती है यह एक स्थानीय पवने है l

2 ) फोन Foehn – आल्पस पर्वत के दक्षिण ढाल से ऊपर चढ़ने वाली हवा उत्तरी ढाल के सहारे नीचे उतरती है तो गर्म तथा शुष्क हो जाती है फोन कहीं जाती हैl इसका सर्वाधिक प्रभाव स्वितजर्लैद में होता है यह बसंत तथा पतझड़ ऋतु में चलती है पवनाभिमुख ढालो पर ऊपर चढ़ती है वायु कभी-कभी वृष्टि करती है और दूसरी और पवन विमुख ढाल पर उतर जाती है इसका तापमान 15°c  से 20°c तक होता है इस वायु के प्रभाव से बर्फ पिघल जाती हैl

3 ) हरमट्टन Harmatton – सहारा रेगिस्तान के पूर्वी भाग में उत्तर पूर्व तथा पश्चिम दिशा से चलने वाली गर्म तथा शुष्क हवाओं को हरमट्टन कहते हैंl गिनी की खाड़ी के समुद्र तटीय भाग में निवासी वहां की विषुवतीय उष्ण तथा आर्द्र जलवायु की उमस से त्रस्त होकर बीमार हो जाते हैं जब यहाँ शुष्क हरमट्टन इस  क्षेत्र की ओर चलने लगती है तो वहां के निवासी राहत की सांस लेते हैं इसलिए इस पवन को डॉक्टर हवा कहां जाता है 

4 ) खमसिन khamsin – मिस्र में चलने वाली शुष्क एवं उष्ण वायु को खमसिन कहते हैं खमसिन अरबी भाषा का शब्द है जो 50 के अंक का संकेत करता है मिस्र में यह हवा अप्रैल से जून तक लगभग 50 दिन के लिए दक्षिण दिशा में चलती है यह हवा अपने साथ बहुत सी धूल उड़ा कर ले जाती हैl

5 ) सिरोक्को sirocco – सिरोक्को गर्म शुष्क तथा रेत से भरी हवा है जो सहारा के रेगिस्तानी भाग से उत्तर की ओर भूमध्य सागर होकर इटली और स्पेन में प्रविष्ट होती है सिरोक्को के साथ लाल रेत भी चली जाती है यहां इनसे होने वाली वर्षा को रक्त वर्षा के नाम से जाना जाता है

विश्व की स्थानीय पवने


6 ) सांता आना santa anna – संयुक्त राज्य अमेरिका के कैलिफोर्निया राज्य में चलने वाली गर्म तथा उष्ण पवन को सांता आना कहते हैं सांता आना हवा पूर्व पश्चिम विस्तृत घाटी में चैनल पवन के रूप में प्रवाहित होती है यह शुष्क एवं गर्म होने के कारण यह फसलों तथा वनस्पतियों को भी भारी क्षति पहुंचाती है

7 ) हबूब haboob – उत्तरी सूडान में मुख्यता खारतून के समीप चलने वाली यह धूल भरी आंधियां है जिनसे दृश्यता कम हो जाता है और कभी-कभी तड़ित झंझा सहित भारी वर्षा होती हैl

8 ) शामल – यह इराक ( दजला फरात मैदान में ) ईरान और अरब के मरुस्थल में उत्तर पश्चिम दिशा से चलने वाले गर्म शुष्क रेतीली पवने है यह विश्व की स्थानीय पवने है 

 

यहाँ भी पढ़े – कोपेन का जलवायु वर्गीकरण

1 thought on “विश्व की स्थानीय पवने, चिनूक, फोन, हरमट्टन”

Leave a Reply